पाक्षिक (https://pakshik.com) एक प्रयास है पंचांग को सरल करने का जिससे हिन्दू जन मानस इसको प्रतिदिन उपयोग में ला सकें | क्योंकि यह पंचांग शुक्ल एवं कृष्ण पक्ष में अलग अलग किया गया है इसलिए इसका नाम पाक्षिक रखा गया है |

आप अपना फ्री पाक्षिक कैलेंडर नीचे डाउनलोड करें



    पाक्षिक उपयोग विधिका वृहद यँहा से डाउनलोड करें |

    यह पाक्षिक कैलेंडर विक्रम संवत पर आधारित है | अभी यह पहली वार प्रस्तुत किया जा रहा है | आनेवाले प्रस्तुति में लोगों के सुझावों को लेकर इसमें और भी विषय जोड़े जायेंगे | इसीलिए आप अपना सुझाव अवश्य दें |

    अपना सुझाव दे